Hey, I am on Matrubharti!

બેચેની છો હમણાં તો આ હૃદયની, ઈચ્છા છે હાશકારો બનાવવાની... સપનું છો હમણાં તો અમારા માટે, ઈચ્છા છે  હકીકત બનાવવાની... ઈચ્છાઓ તો છે અઢળક અમારી ઈચ્છા છે બસ તમારી એક હામી ની...

Read More

अहेसास तेरा मेरी आहटो में बसने लगा हैं
कही ना कही तू मेरी बातो में छलकने लगा है
ख्वाबों में रहने लगा हैं,दिल में धड़कने लगा है
कही ना कही अब तू मुजमे मुझसे ज्यादा रहने लगा है।

Read More

गैरोंकी इंटो से बनी हैं, माना ये दीवार हमारे बीच,
पर कड़ाई काम तो हमारा ही था ना।

प्यार करता हू लेकिन शादी नहीं कर सकता उससे,
क्यूंकि उनके वहा शादी को निकाह कहते है।