My Touching Poem...!!!!


जब ख़ुद को अर्पण दर्पण को कर
देखतीं हूँ तो बस यही सोचती हूँ मैं

अक्सर यहाँ देख कर ख़ुद को हैरां
मुझे हैरान कोई और भी कैसे ना हो

अक्सर सजती सँवरती तो हूँ जिस्म
से पर रुँह से भी तो कभी तकती हूँ में

देख ख़ुद को फिर ख़ुद ही ख़ुद सोचती
भी हूँ में..? क्या सच में सही करती हूँ में

स्त्री-चरित्र से बढ़ कर भी क्या कोई
दौलत है..??ख़ुद से यही पुछती हूँ में

पाश्चात्य-संस्कृति की आँधी ओ में
बिखरा पड़ा यह यौवन-घन,फ़ैशन की

शमशीर से परास्त दिशाहीन राहों में
भटकते कदमों को सँभाल पाती हूँ में

मान-मर्यादा-ख़ानदानी परम्पराओं
कि बलि चढ़ा कर बाहरी दिखावों में

ब्रेक-अपकी नाकाम ठोकरोंमें उलझता
गिरता पड़ता किरदार निभा पाती हूँ में

प्रभुजी की सबसे हसीन रचना तो हूँ
पर क्या ख़ुद को हसीन रख पाती हूँ में


✍️🥀🌹☘️🌷🙏🌷☘️🌹🥀✍️

Read More

My Meaningful Poem..!!!

आज जो तुम महेकें महेकें से हर सिम्त
हर पेहलु से महसूस हो जो रहे हो..!!

दरअसल यह आपके मातृजी-पितृजी
श्री के पसीनों की ही तो ख़ुशबू है..!!

बीज़ जो संस्कार के कभी बोएँ उन्हों
ने आप पा रहे, जो फ़ल-स्वरूप है..!!

बढ़ते बढ़ते नस्लों की शाख़ें भी कुछ
एसे बढ़ी हक़ीक़त,उनकी तसव्वुर है..!!

पहेलीयोँ की कुछ दरकार-ए-दस्तूर
रंग लाई है,नस्ल हर मुख़्तसर-सी है..!!

वक़्तने लिए इम्तिहान अनगिनत,आज
जो आपकी है,ये उनकी मस्ककत है..!!

हैवान-ओ-इन्सान का चौली-दामनका
साथ रहा,पर उनके कमँकी बरकत है.!!

पैरवी करते रहो ख़ानदानी उसूलों की,
हर वक़्त यही उनकी सही सनाख़त है.!!

प्रभु भी परखते है हर दौर में नस्लों की
पुश्तोंको,एसे ही तो मुक्ति मयस्सर नही

✍️🥀🌷🌹🌹🙏🌹🌹🌷🥀✍️

Read More

My Soulful Poem...!!!!

नादाँ इन्सान समझें जहाँमें ही तरक़्क़ी है

पर याद रखो इन्सानी जीवन तो फ़ानी है

हर जिस्मों को मौत तो ज़रूर आनी ही है

कुछ रहती बाक़ी तो,बस कमँ करनी हैं

माना ख्वाहिश हर एक बशर की मुक्ति है

पर प्रभु दरबार में चलती नही प्रयुक्ति है

बिछड़ना एक दीन जहाँ से नियुक्ति है

ओर रब के दरबारमें सिर्फ़ पाक़िजगी है

ग़र संभल जाए बंदा दिलसे हक़की राह

में तो फिर हरि-डगर पर झुकेंगे सर ग़र

दिल से तो प्रभु-शरण में ही भक्ति है..!!


✍️🥀🌷☘️🌹🙏🌹☘️🌷🥀✍️

Read More

My Meaningful Poem...!!!

रिश्तों की रस्सी
कमजोर तब हो जाती हैं, 🌿

जब कभी इंसान
गलतफहमी में पैदा होने वाले, 🌿

सवालो के जवाब
भी खुद ही बना लेता है, 🌿

यारों हर इंसान
दिल का बुरा नहीं होता, 🌿

बुझ जाता है दीपक
अक्सर तेल की कमी के कारण, 🌿

हर बार कसूर
सिर्फ़ ह़वा का नहीं होता, 🌿

✍️🥀🌷☘️🌹🙏🌹☘️🌷🥀✍️

Read More

My Meaningful Poem ...!!!

रोटियाँ........!!!!!

क़ीमत रोटियों की
समजेगा क्या कोई

तीन दीनका भूखा
ग़रीब रोड़ पर पड़ी

कुत्ते-गाय के लिए
डालीं रोटी भी खा लेगा

एक माले-तूज़ार धनवान
बतीसी पकवान सजे हो

दस्तरख़ान पे पर मर्ज़ से
मजबूर न खा पाए लुक़मा

जूठा ख़ाना थाली में छोड़ना
अपनी शान समझनेवाले नादाँ

नादान बंदे क्या जानेंगे
रोटी की सही क़ीमत

कड़ी धूप में बड़ी मेहनत
मस्ककत से हल चला बोता

बीज ग़रीब मासुम किसान
करता आशा रब से ता कि

बारिशों की मबलख महेर हो
जल्द से ता कि फ़सल भी हो

शान-ए-कुदरत से चले
घर ग़रीब का भी आय से

तब कहीं जा के दाना
घेंऊ का बनता खेती से

पीसता चक्कीमें फिर
गुदतीं माँ बड़े चाव से

बैलती बेलन से सेंकती
तवे पर तब बनती रोटी

अक़्ल के अँधे दिखावे
की जूठी शान में क्या

बे-अदबी करते क़ुदरत
के नायाब इस तोहफ़े की

काश भूख की फ़ीटकार
पड़े इन्हें तो समज में आए

जानें नादाँ क़ीमत इतनी
मेहनत-औ-मस्ककतकी

✍️🌴🌹🌲🧇🥘🧇🌲🌹🌴✍️

Read More

#Hard to know d actual entity of MAA..!!


My New Poem...!!!

भूख से में तिलमिला
जाऊँ तो तड़प जाती

माँ जब चमचों से
दूध-दलिया पिलाती

रालियों पर तो रेलों
की धारा ही बह जाती

लब तो लब गालों
पर भी वे चिपक जाती

जो गाल बार बार माँ
ही साफ़ करती रहती

क्या ख़ूब फ़िक्र एक
माँ ही तो करती रहती

रातों को गिले बिस्तर
पर ख़ुद वह सो जाती

सर्दी-जुकाम के ख़्याल
तकसे भी वही बचाती

मानो माँ नहीं साक्षात
देवी-सी नज़र आती

उस समय माँ ही हर एक
संभव प्रयास कर जाती

प्रभु की बनी सब से प्यारी
मुर्त जीते जी स्वर्ग दिखाती

✍️🌴🌹🌲🌺🖊🌺🌲🌹🌴✍️

Read More

#Happy person ever dare for worries...!!!


My Meaningful Poem...!!!


यारों तजुर्बा एक कसौटी है
इम्तिहान पार करते रहिए...

आप होकर मायुस शाम की
तरह कभी भी ढलते मत रहिए...

यह फ़ानी जिंदगी एक भोर है
रवि की तरह निकलते रहिए...

वक़्त की राहों में ग़र ठहरोगे
एक पाँव पर तो थक जाओगे...

सौ धीरे धीरे ही सही.. मगर
लक्ष्य की ओर आप चलते रहिए...

माज़ी ने दिए हैं बहूत उमदा-से
वाक़ये,शीख़ इनसे भी लेते रहिए...

माना सफ़र आसन तो नहीं पर
मज़ा ही क्या मुश्किलें न हो तो...

कटते कटते यह वक़्त तो कट ही
जाएगा,पर आप हौसले थामे रखिए..

उपर बैठा गोविंद-बेड़ा जानत है सब
फ़िक्र की फ़िक्र उसे ही करने दिजीए..!


✍️🌹☘️🥀🌷🙏🌷🥀☘️🌹✍️

Read More

#Half part u need to finish

Second half Almighty,,

for Paradise...!!!


My Realistic Poem...!!!


दुनिया तेरी रीत निराली
चेहरे पर चढ़ा कर झूठे मुखौटे
जी रही दुनिया सारी की सारी
दुनिया तेरी रीत निराली..!!!

अल्फ़ाज़ो का कोई तोल नही
प्रभुमय भावों का यहाँ मोल नहीं
दिखावों में बीत रही है जिंदगानी।
दुनिया तेरी रीत निराली...!!!

ईमानदारी को दिखा के ठेंगा
बेईमानी ही बना चलन-ग़ेहना
जीत रही है यहाँ बस मक्कारी।
दुनिया तेरी रीत निराली...!!!

धोका-दहाड़ीं जालसाज़ी बनी
रीति-निती,स्वर्ग से ना सरोकारी
फ़रेबों-सी गुंडागर्दी बनी बीमारी।
दुनिया तेरी रीत निराली...!!!

दहेज बलि चढ़ती है यहाँ बेटीयाँ
बेटों को तो ना है ख़ौफ़ ना रंजिश
इन्साफ़ की दोहाई बनी हैं लाचारी।
दुनिया तेरी रीत निराली...!!!

महान प्रभुजी भी देवत है ढील
देखत है राह, ता कि बंदे सँभले
कोरोना ही फ़िर चाबुक-धारी।
दुनिया तेरी रीत निराली...!!!

✍️🌹☘️🍂🥀🙏🥀🍂☘️🌹✍️

Read More

#Get -Well soon by all Means..!!


My Meaningful Poem...!!!

ज़िदंगी की दौड में तजर्बा
हमारा कच्चा ही रह गया

हमने न सीखा कभी फरेब
दिल भी बच्चा ही रह गया

बचपन में जहाँ चाहा हँस
लेते जहाँ चाहा रो लेते थे

पर अब...!!!

मुस्कुराने को तमीज़ चाहिए
और आँसूओं को भी तन्हाई

हम भी तो मुस्कुराते थे कभी
बेपरवाह अपने ही अंदाज़ में

देखी है आज कुछ अपनी ही
पूरानी-सी बिन्दास-सी तस्वीरें

हँसने की क़िस्मत ओर क़ीमत
मायने रखतीं है पता लग गया

हल्की-सी मुस्कान भी क़ीमत
आज वसुलती है पता लग गया

करवट फिर भी दिल ना बदल
सका यही एक मसला रह गया।


✍️🥀🌷☘️🌹🙏🌹☘️🌷🥀✍️

Read More

#Garner wud be garden if pretentiousness

Can be implemented positively...!!!


My New Poem ....!!!!

जब तक मन में खोट
और दिल में पाप है

तब तक बेकार सारे
ही मंत्र और जाप हैं

नादान इन्सानका ख़्याल
वो देखता नहीं आज है

पर प्रभु तो हर घड़ी 🕰
हर तरफ़ बिराजमान है

सच है प्रभु की मर्ज़ी के बग़ैर
तो रवि भी नहीं देता ताप है

करता है दिल से जो बंदा
प्रभु के आगे पश्चाताप है

जीते जी पा लेता है शांति,
जो भूल-क़बूल का प्रताप है

सौ बंदा पूजा-अर्चना करे ना
करें पर साफ मन ही जाप है

ध्यान ग़रीबों-यतीमों का भी रखें
ये भी अच्छे कमँ का एक नाप है ..!!

✍️🌴🌹🌲🥀🙏🥀🌲🌹🌴✍️

Read More