Hey, I am on Matrubharti!

कितनी मासूम हो यार तुम....
इतना मासूम तो "गुलाब "भी नहीं...
देना आपको चाहत-ए-गुलाब का तोहफा
"रुद्र " कहीं ये उनकी तौहीन तो नहीं...

Read More

वो हमारा पता हम
से पूछते है
नादा इतना नहीं समझते
की हम तो उन के दिल में ही रहते है।।
कहते है कहाँ हो तुम?
अरे हम तो वहीं है जहाँ हो तुम।।

Read More

वो केहते है की " उनकी खुशी हमारे खुश रहने मैं है"!!!
अब कैसे समझाए उन्हें की
"हमारे लिए तो उनका साथ होना" ही सबसे बडी खुशी है।।
वो केहते है की "छोड दो हमें "
नादान इतना नहीं समझते कि "दिल से धड़कनों का छूटना क्या केहलाता है"!!

Read More

उसे किसी की मुहब्बत का ऐतबार नहीं,
उसे ज़माने ने शायद बहुत सताया है…
तेरी मोहब्बत से लेकर…, तुझे अलविदा कहने तक…,
सिर्फ तुझ को चाहा है, तुझसे कुछ नहीं चाहा…!!

Read More

न दे सजा मुझे, कि बेक़सूर हूँ मैं,
थाम ले हाथ, ग़मों से चूर हूँ मैं,
तेरी दूरी के चलते पागल हूँ मैं ,
और सब कहते हैं कि मगरूर हूँ मैं।

Read More

तू.... तू है।
मैं.... मैं हूँ।।
तूझ से मैं पूरा।
मुझ बिन तू अधूरी।।
तेरा समर्पण मेरी खुद्दारी।
यही तो है प्रकृति और तत्व की बलिहारी।।
सूक्ष्म से भी सूक्ष्म है ज्ञान ये यारा
मिलन हो जब हमारा तब संपूर्ण हो संसार सारा।।

Read More

तेरी उम्मीद,तेरा इंतजार करतें है।
ए सनम हम तो सिर्फ तुम से प्यार करतें है।।

जीतनी मासूम है,उतनी नादान है हमारी मुहोब्बत्त।
ना गिला है ना शिकवा है
बस एक-दूजे के लिए खैरियत -ए-इबादत है

Read More

आज कल मौसम बडा इश्किया है!!!
कभी याद कभी बात
बस बिन मौसम बरसात!!!

हम दिन रात उनके खयालो में रहते है!!!
और वो
जरा से इंतजार के शिकवे करते है!!!