Read My Story ... full of Fun and Humour "पहला घूँट" and please give your reviews

अपनी जिंदगी के..

सलीके को..

कुछ यूँ मोड दो..



जो आपको..

नजरअंदाज करे..



उसे..

नजर आना ही..

छोड दो..

ख़ुश्बू जिसकी हवाओं में आती थी..
बेगरज़ हमें उनकी गली ले जाती थी ..
वो सिर्फ ख़ुश्बू थी उनकी चाय की ..
जो हमें उनके हर रोज़ दीदार कराती थी

Read More

तुम तो यूँ ही
आँसुओ से परेशान हो...

यकीन मानो
मुस्कुराना ओर भी मुश्किल है.

जो शख्स मेरी हर कहानी ...
हर किस्से में आया

वो मेरा हिस्सा होकर भी
मेरे हिस्से में नहीं आया...

अब ना दिखा गर्मी चला गया है June
हो गयी है शाम बीत गया है noon
जमी पर रहो ना बनो दागदार moon
अब चाहो तो पड़े रहो अपनी बीमार ego के बिस्तर में
या फिर बाहों में आके हो जाओ get well soon

#GetWell

Read More

मैं अपने 'करीब'
'और करीब' होता गया

ख़ुदा होते गये
ज्यों-ज्यों
मेरे..करीबी

आगे सब ठीक रहा तो
इस बार 31 दिसंबर को...


नया साल आने की नहीं
पुराना साल जाने की पार्टी करेंगे

"तुम "फासलों" को ही"
"जुदाई" ना समझ लेना"..!

"यहां "थाम" कर हाथ भी"
"लोग "जुदा-जुदा" बैठे हैं"...!!!!

ये जो मन के सौदे हैं ना



सबके साथ नहीं होते

एक चाहत होती है ज़माने के साथ हँसते हुए जीने की जनाब,



वरना पता तो हमें भी है की मरना तो अकेले ही है