Welcome to DK"s World...

good morning friends... ☕
Read my story... પ્રથા...
and give me your precious review...

माना की...
आप की मुस्कान ने फूलों को खीलना सीखाया...

एक अहेसान ये भी कीजिये...
इन कांटों को नरम कर दीजिये...

#नरम

Read More

आपके सवाल का कुछ युं जवाब भेजा है हमने...

📖 किताब के अंदर इक 🌹 गुलाब भेजा है हमने...

अबके आपको चैन से नींद आयेगी...

प्यारभरा मखमली इक ख्वाब भेजा है हमने...

#सवाल

Read More

किस्मत का खेल... ग्रहो का मेल...
ये बातें कुछ और है...

सफल न होने में निष्क्रिय मन का बडा जोर है...

#निष्क्रिय

Read More

ये मौसम... ये बारीश की बूंदे...

ये तेज हवाऐं किस ताकझांक मे है...

ये किताब- ए- ईश्क के पन्ने क्युं फडफडा रहे है...

अच्छा..अतीत के लम्हे बाहर आने की फिराक मे है...

#अतीत

Read More

ભર ઉનાળે આ વરસાદી વાજિંત્ર...

પ્રકૃતિ નું કેવુ આ સ્વરૂપ વિચિત્ર...

દોષ પણ ક્યાંથી દે માનવ કુદરતને...

હોય છે ક્યાં ચિત્ર જેવુ ચરિત્ર...

#ચિત્ર

Read More

उड़ता परिंदा सोचे हैं...
क्यों थम गई जमीन कहां गई वो रंजिशें...
वो सही -गलत के नजराने ...
वो नहीं- है... अगर- मगर की फरमाइशें...
कहां गए वो लोग ...वो दौड़ ...वो मंजिलें ...वो ख्वाहिशें...
वो वक्त का पाबंद इंसान...
ये खुद की खुद पर लगी बंदिशें...

#सही

Read More

ए जिंदगी... थोडा मुस्कुरा दे ना...!
ओ जिंदगी... थोडा मुस्कुरा ही दे ना...!

दब गई जो जीम्मेदारीयों के बोज तले...
उठाकर उस मुस्कुराहट को लगा गले...
बेबस ख्वाबों के परींदो को उडा दे...
बेडीयों में बंधे घरोंदो को जला दे...
बस थोडा ही सही मुस्कुरा दे... मुस्कुरा दे ना...!

गमों के धागों से इन होंठों को जो तुने सी रख्खा है...
रीहा कर इन होठों को... थोडा मुस्कुरा दे ना...
झुकी आंखों के अंदर दर्द का जहेर जो पी रख्खा है...
उस खारे पानी को बहा दे ना...
चैन मील जायेगा... थोडा मुस्कुरा दे ना...!

माना की वक्त का सीतम है बेहद...
उफफ...ये रस्मो रिवाजों की सरहद...
मगर कुछ देर इन सीमाओं से परे होके...
सोच से दूर जाके...
जो साथ है उन खुशीयों के पलों को लेके...
हौंसलो के परोंँ से... उम्मीदों के भरोसे...
उस खुले आसमान को होके...
चल... प्यार के जहाँ में चलते है...
बडा सुकुन मिलेगा... अब मुस्कुरा भी दे ना...!

#જીવન

Read More

हालातों की हवा से विरूद्ध...

उडी है ख्वाईशों की पतंग...

जुडी है हौंसले की डोर...

#પતંગ

अंदाज-ए-चहेरा अपना देखते है आइने मे वो...

और ये भी देखते है कि कोई देखता ना हो...

#ચહેરો