Dream to meet my crush @timothee

जान निसार कर दी मैंने तुझ पे,
अपने हिस्से का सारा प्यार दे चुकी तुझे,
पर शायद कुछ तो कमी रह गई,
पता नहीं इतनी मोहब्बत कैसे हो गई मुझे??
पता नहीं तुझमें ऐसा क्या है??
पता नहीं मुझमें ऐसा क्या नहीं है??

-Dinkal

Read More

सूखी पड़ी है दिल की ये ज़मीन,
जाने कहां गुम हो गई है नमी,
बंजर इस ज़मीन पे उम्मीद है तेरी बारिशें,
भीग जाएं फ़िर से प्यार की हो साजिशें।

-Dinkal

Read More

मैंने देखा ही नहीं अपनी हथेलियों में,
तेरे नाम की लकीर ही नहीं थी,
बेशूमार मोहब्बत कर बैठे तुझसे,
पता ही ना चला की बहरूपिया रोशनी के साये में है हम।

-Dinkal

Read More

काश... गम के ये बादल जोरों से बरस जाएं,
ज़िंदगी फ़िर से एक नई मुस्कान के साथ खिलने लग जाए,
फ़िर से एक नया आसमान मिले,
बीता हुआ कल तूफ़ान की तरह गुज़र जाए,
फ़िर से हल्की हल्की पवन लहराए,
फ़िर से उड़ने और चहकने का मौका मिले,
फ़िर से नई खुशियां मिले,
फ़िर से नई शुरुआत हो,
काश... ज़िंदगी में रिप्ले हो...

-Dinkal

Read More

जो ना बन सके में वो बात हूं,
जो ना ख़त्म हो में वो रात हूं,
ना किसिके दिल की हूं आरज़ू,
ना किसीकी नज़र की हूं जुस्तजू, क़िस्मत मेरी यही है,
यूं ही शम्मा बनकर जला करूं...

-Dinkal

Read More

में बीते हुए पलों को याद करूं तो कुछ लोग बहुत याद आते है,
अब ना जाने कौन सी नगरी में आबाद है वो लोग,
देर रात तक में जागूं तो बहुत याद आते है वे लोग, कुछ बातें थी, कुछ यादें थी,
याद उन्हें करूं तो कुछ लोग बहुत याद आते है,
सबकी ज़िंदगी बदल गई,
सब अपनी ज़िंदगी में व्यस्त हो गए,
किसीको दोस्त की जरूरत नहीं,
सब 'तू' से 'तुम'और अब 'आप' हो गए,
याद करूं उन्हें तो कुछ लोग बहुत याद आते है...

-Dinkal

Read More

डूबे हुए को बिठाया था कभी हमने अपनी कश्ती में,
और कुछ समय बाद हमे ही कश्ती का बोझ कहकर उतार दिया गया...💝

Emotions are celebrated and repressed, analyzed and medicated, adored and ignored...
but rarely, if ever, are they honored...💝

मोहब्बत के रास्ते कितने भी मखमली क्यूं ना हो,
लेकिन अंत में खत्म तो तन्हाई के खंडहरों में ही होते है...💝

ढलती हुई ये शाम भी कुछ मदहोश नज़र आ रही है,
मानो जैसे चांद को अपनी बाहों में समेटने के लिए बेसबर हो रही है...💝

Read More