Hindi Poem videos by Ankit Chaudhary શિવ Watch Free

Published On : 14-Jul-2020 08:58pm

254 views

मुझे पता है मेरा होना या ना होना,
तेरे लिए कुछ भी नहीं है,
पर फिर भी आखरी बार तू,
मेरे जनाजे को देखने तो आ जाती।
मेरे मरे हुए जिस्म में थोड़ी सी,
राहत और आ जाती ,
तुझे अपने पास महेसूस करके।
एक आंसू भी गिरता तेरा
सिर्फ मेरे लिए तो ,
हस्ते हस्ते वह आग में गिर जाता,
जो मुझे मरने के बाद नसीब हुई।
मुझे पता है मेरा होना या ना होना,
तेरे लिए कुछ भी नहीं है।

ऐ मेरे गुमनाम हमसफ़र,
तेरा होना ही मेरे लिए सबकुछ है।
तेरा होना ही मेरे लिए सबकुछ है।

2 Comments

Related Videos

Show More