Hindi Poem videos by Umakant Watch Free

Published On : 12-Sep-2019 06:46pm

430 views

? गुलजार साहब द्वारा जयपुर लिटरेचर फैस्टिवल में बूढ़ी माँ पर सुनाई गई बहुत ही खूबसूरत कविता
जिसे हाथों में रूमाल लेकर सुनिए, मगर सुनिए जरूर.?

1 Comments

Umakant 2 month ago

“જનનીની જોડ સખી નહિ જડે રે લોલ”