Hey, I am on Matrubharti!

મેં નહોતી જોઈ પહેલાં આવી આ જંજાળ જીવનની ,
મને નવરો ન પડવા દે અને બેકાર પણ રાખે

मुझको भी उन्हीं में से कोई इक समझ लें
कुछ मसले होते हैं न, जो हल नहीं होते

किसी के झूठ की वजह से हम सो नही पा रहे है
कोई संभाल नही पायेगा इस डर से रो नही पा रहे है
इंतजार मे है बुला रहे है कब से
एक मौत नही आ रही है और एक वो नही आ रहे है

Read More

सुकून क्या हैं..?

किसी ऐसी चाहत का मिलना..
जिसके बाद कोई और चाहत ही न हो .....

जो झुक कर भी तेरे बराबर है
सोच उसका कद कितना बड़ा है....

गजब की मोहब्बत थी उसकी आँखों में,
महसूस तक नहीं होने दिया कि वो छोड़ने बाला है...

साथ मैं जब तक रहा रिश्ता निभाया हर तरह

और जब बिछड़ा तो फिर मुड़ कर नहीं देखा कभी

जिंदगी में दो चीज़ कभी मत करना.........
शराब से मोहब्बत
और
तवायफ से प्यार....

कहानी के किरदार बदल चुके थे कभी के..
और मेरा किरदार, मर चुका था उसकी कहानी में..

वो मुस्कान थी कहीं खो गयी

और मैं जज्बात थी कहीं बिखर गयी