Hey, although i am not a professional writer but writing is my hobby and i am enjoying it .when i start writing i dont know how to put words togther and produce some magical quotes and shyari, but now i can do that.i also contributed in a book called shabdanchal part 2 which is availble on kindle.

हां मुझको इश्क़ जाताना नहीं आया ।

तू खफा-खफा सी थी मुझसे ,

ओर मुझको तुझे मानना नहीं आया।

सोचा कि तू पढ़ लेगी इश्क को आँखों में मेरी ,

पर तुझको तो कभी आंखे पड़ना ही नहीं आया ।

क्या कोई कमी रही थी मोहब्बत में मेरी ,

या फिर मुझको इश्क़ करना ही नहीं आया ।

जब भी चाहा था मैंने इश्क़ को जाताना तुझसे ,

देखकर तुझको मेरे लबोँ पर कभी कोई अलफ़ाज़ नहीं आया ।

हां मुझको इश्क़ जाताना नहीं आया ,

तू खफा-खफा सी थी मुझसे ,

ओर मुझको तुझे मानना नहीं आया ।।।











हां मुझको इश्क़ जाताना नहीं आया ।

तू खफा-खफा सी थी मुझसे ,

ओर मुझको तुझे मानना नहीं आया।

सोचा कि तू पढ़ लेगी दिल के जज़्बात मेरी आंखों में ,

पर तुझको तो कभी आंखे पड़ना ही नहीं आया ।

क्या कमी रही थी मोहब्बत में मेरी कोई ,

या फिर मुझको मोहब्बत करना ही नहीं आया ।

जब भी चाहा मैने इजहार ए इश्क बयां करना तुझसे ,

देखकर तुझको मेरे लबोँ पर कभी कोई अलफ़ाज़ नहीं आया ।

हां मुझको इश्क़ जाताना नहीं आया ,

तू खफा-खफा सी थी मुझसे ,

ओर मुझको तुझे मानना नहीं आया ।।।

Read More

वो बात जो तूने कभी समझी ही नहीं ,

ओर मैं कभी कह नहीं पाया ।

सोचा था कि आंखे बयां कर देंगी ।

ओर आँखें तो तू कभी मेरी पढ़ ही नहीं पाया ।

Read More

तेरी ओर मेरी रातों में फर्क है तो सिर्फ इतना ,

कि मुझे नींद नहीं आती ओर तुझे ख्वाब नहीं आते ।

जो बिताये थे लम्हे हमने साथ कभी ,

मैं भूलता नहीं ओर तुझे कभी याद नहीं आते ।

मैं चाहता तो हूं तुझको अपने ख्वाब में देखना ,

पर तुम ऐसे हो रूठे कि अब ख्वाब में भी नहीं आते ।

तेरी ओर मेरी रातों में फर्क है तो सिर्फ इतना ,

कि मुझे नींद नहीं आती ओर तुझे ख्वाब नहीं आते ।

Read More

तू अलफ़ाज़ बनकर मेरे लबोँ पर इस तरह से छा गया ,

कि मेरी हर नज़्म में लोगों को तेरा अहसास नज़र आ गया ।।।

अहसास नहीं था की किसी की यादें इतनी जरुरी हो जाएंगी ,

जो ना देख पाऊं उसको तो नींद भी पूरी नहीं हो पायेगी ।

ऐ खुदा यूं ही कायम रखना उसकी मुस्कान को हमेशा ,

क्यूंकि पता नहीं था कि किसी की मुस्कान के

बिना ज़िन्दगी इतनी अधूरी हो जायेगी ।

Read More

हम तो सिर्फ उसकी मुस्कराहट के कायल थे ।

वर्ना तो लोग ज़माने में हमें ओर भी मिले थे ।।।

मैंने दिल से कहा अब तो उसको चाहना छोड़ दे ,

दिल बोला अपने आप को बदल ,मुझको समझाना छोड़ दे ।

मैने पूछा क्यों करता है मोहब्बत उस से इतनी ,

दिल बोला मुझको क्या समझाता है ,

पहले तू खुद को तो उसकी यादों में तड़पाना छोड़ दे ।।

www.jikraterashyari.wordpress.com

Read More

ऐ खुदा इश्क तो तूने भी किया होगा ,

मेरी तरह तू भी किसी की यादों में रहा होगा ।

फिर कयूं कर देता है तू मोहब्बत करने वालो को जुदा ,

इश्क तो तूने भी किया था ,

तो थोड़ा सा दर्द तो तूने भी महसूस किया होगा ।।

Read More