Hey, I am reading on Matrubharti!

कुछ ऐसा सवाल किया उसने हमसे,
जवाब होते हुए भी हम दे ना पाए।।
जिंदगी जीने की वजह ही वो थे,
कहना चाहते हुए भी कह न पाए
रह गई थी क्या कोई कमी हमारी महोब्बत में??
जो पूछे गये ऐसे सवालात।।
था वो सिर्फ एक सवाल या किया गया हमारे वजूद पर शक?
समझ के भी हम समझ न पाए।।

#सवाल ??

Read More

ये कैसा चित्र सामने आया इस जमाने का।
खुदा ने भी बंध कर दिया दरवाजा उसके घर जाने का।
कभी जो कैद थे इंसान से, आज आजाद होके उड़ रहे है।
हर किसी को गुलाम समझने वाले,आज कैद होके घर मे घूम रहे है।।
दिख रही है हर जगह नाराजगी खुदा की हर एक चित्र में।
अब तो सुधर जाओ,ज्यादा देर नही लगेगी अश्थिया बहने में।।

#चित्र
#stayhome 🙏🙏

Read More

महोब्बत का पक्ष लेकर गुरुर से चल पड़े थे,
आज उसी महोब्बत ने गुरुर तोड़ दिया।।
कर बैठे थे बगावत उस ख़ुदा से,
जिसने आज सब से जोड़ दिया।।
हो गए थे सब के विपक्ष,
खुद को उसका पक्ष बनाया था।
पर नफरत के कुछ पन्नो ने सच का दरवाजा खोल दिया।।

#पक्ष

Read More

रह गई अपूर्ण उनकी वो ख्वाहिशें,
जिन्हें हम पूर्ण न कर सकें।।
करना था दूर उनके हर दर्द को,
पर हम उनकी खुशि की वजह न बन सकें।।
दूर है आज वो हमसे,
जिनकी वजह हम ही है बन बैठे।
चाहते तो थे उनका हर ख्वाब परिपूर्ण करना,
पर खुद के ही उसूलों के आगे हार बैठे।।

#पूर्ण

Read More

कुछ यूं मन भटकने लगा है उनकी याद में,
अब तो शायद जिक्र भी हमारा होता होगा उनकी फरियाद में।।
भटकते मन को शायद सुकून मिलेगा उनकी बाहो में,
मंजिल भी ख्वाब बनके रहेने लगी है बस राहों में।।
है ये कुदरत का कहर या किस्मत खेल रही है अनोखा खेल,
जिंदगीया कुछ यूं बदलने लगी है रोज जनाज़ों में।।

#भटकना

Read More

जिंदगी में वो रिश्ता इज्जत से बचाया जाता है जब प्यार का तराजू निचा पड़ जाता है।।
देखा है खूब,उन्हें इज्जत बहोत प्यारी है जिसने हर पल दूसरों को जलील किया होता है।।
मांग कर नही कमाई जाती है इज्जत,कुछ नेकिया भी कर लो,
इज्जत देना तो कोई उनसे सीखो,जिसने हर पल बेइज्जत होके दूसरों के दिल में जगह बनाई है।

#respect

Read More

चलो आज एक नया उदय करते है।
जिंदगी के कुछ गलत पन्नों को अस्त करते है।
कुछ खूबसूरत पलो को आँखों में कैद करके,
टूटे दिल के हिस्सों को नष्ट करते है।।

#उदय

Read More

हर दिन हर पल बदलता है एक मौसम की तरह।
जिंदगी का कोई लम्हा कभी संरेखित नही होता।।
यू तो भीड़ में मिल जाते कई हाल पूछने वाले।
पर जो एकेले दर्द समजे ऐसा कोई अपना नही होता।।
हर कोई चाहता है जिंदगी को संरेखित चलाना।
पर लिखा होता ऐसा तकदीरों में तो कोई कभी जुदा न होता।।

#संरेखित

Read More

सोचा आज दिल के जज़्बा जाहिर कर दु।
पर वक़्त नही किसी के पास सुनने का।।
हर पुरानी याद को मुठी में कैद कर लूं।
अब और मन नहीं उनकी नई याद बनाने का।।
नही करना जाहिर अब दिल का दरिया।
क्योंकि भूल गए हम तरीका नाव सजाने का।।

#जाहिर

Read More

अब हमारा कोई काम नही है उनकी जिंदगी में जिनके जीने की कभी वजह थे हम।
अब उन मतलबी लोगो के बिना जीना सीख गए हम।
ये दुनिया भी कुछ यु मतलबी सी हो गई है।
यहाँ काम आने वाले इंसान को सर का ताज और बिना काम के इंसान को पैरों की जूती समजा जाता है।

#काम

Read More