Best Hindi Stories read and download PDF for free

Love in Corona
by Swatigrover

"हाँ, नियति मैं कोरोना पॉजिटिव हो गया हूँ । मैंने डॉक्टर से बात कर ली है । मैं एकांतवास में रहूँगा इसके लिए मुझे मसूरी जाना पड़ेगा । मैं ...

महाकवि भवभूति - 15
by रामगोपाल तिवारी

महाकवि भवभूति  15 संवेदनाओं का संदेशवाहक                संदेश से जीवन में समग्रता बनी रहती है। जीवन के विकास में संदेश की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। राष्ट्रीय एकता के परिप्रेक्ष्य ...

दास्तानगो - 6 - अंतिम भाग
by Priyamvad

दास्तानगो प्रियंवद ६ एटिक में अब अंधेरा था। बुढ़िया ने चरखे पर काता हुआ सूत समेटना शुरू कर दिया था। अंधेरे में ही वामगुल स्टूल पर बैठ गया। पुल ...

पता, एक खोये हुए खज़ाने का - 21
by harshad solanki

पर इस बार उन आदिम लोगों ने अश्रुगेस से बचने का तरीका निकाल लिया था. वे इस वक्त दो दो, तीन तीन के झुंड में छितरबितर हो कर लड़ ...

चन्देरी, झांसी-ओरछा और ग्वालियर की सैर 2
by राज बोहरे

                चन्देरी, झांसी-ओरछा और ग्वालियर की सैर 2                                                                                                   यात्रा वृत्तांत                                           कौशक महल प्रसंग                           

पके फलों का बाग़ - 10
by Prabodh Kumar Govil

इन दिनों मुझे लगने लगा था कि जीवन भर के रिश्तों को एक बार फ़िर से देखा जाए और जिस तरह किसी अलमारी की सफ़ाई करके ये देखा जाता ...

दो बाल्टी पानी - 31
by Sarvesh Saxena

डेढ से दो घंटा हो गया पर बिजली वाले बाबू जी ने वर्मा जी और मिश्रा जी की कोई सुध ना ली और थक हारकर इस बार वर्मा जी ...

विभीषिका
by rajendra shrivastava

लघु-कथा-- विभीषिका                                                       ...

अलग तरह का देश
by Abdul Gaffar

अलग तरह का देश अब्दुल ग़फ़्फ़ार बेहद ख़ूबसूरत ... मख़मल सी मुलायम, मलमल सी सफ़ेद, मरमरी बाहें, तपती निगाहें, मदमस्त चाल... बॉलीवुड की नई तारिका रश्मि गर्ग ... का ...

सीमा पार के कैदी - 2
by राजनारायण बोहरे

सीमा पार के कैदी2                                 बाल उपन्यास                                राजनारायण बोहरे दतिया (म0प्र0)   2               बाल जासूसों की एक संस्था बनाई गई थी, अजय और अभय उसके ...

अपना - अपना संघर्ष
by amit sonu

हथेली पर चीनी के दाने छन - छन करते.... कितने अच्छे लगते है न, लेकिन थोड़ी सी नमी आ जाए तो अपनी चिपचिपाहट छोड़ने में देरी भी नहीं करती।देव ...

मीता एक लड़की के संघर्ष की कहानी - अध्याय - 17 अंतिम भाग
by Bhupendra Kuldeep

अध्याय-17अंतिम भागमि. शर्मा अंदर गये तो मीता को जागा हुआ देख खुश हो गए। उन्हें रोना आ गया ओर वो वही स्टूल में बैठकर सुबकने लगे।मीता ने उनका हाथ ...

कामनाओं के नशेमन - 1
by Husn Tabassum nihan

कामनाओं के नशेमन हुस्न तबस्सुम निहाँ 1 दरवाजे बहुत होते हैं, कुछ सहजता के साथ खुल जाने वाले और कुछ दरवाजे बहुत खटखटाने के बाद खुलने वाले। उतना अर्थ ...

एक मुट्ठी दाल और कुकर की सीटी
by Saroj Prajapati

शाम को 4:00 बजे शॉपिंग करने के बाद प्रिया व उसके पति रौनक थक हार कर घर में घुसे। सामान रखकर जैसे ही वह बैठी थी कि रौनक बोला ...

आवारा अदाकार - 2
by Vikram Singh

आवारा अदाकार विक्रम सिंह (2) सही मायने में वह सुबह में दिखती ही नहीं थी। क्योंकि वह सुबह देर से उठती थी। दरअसल वो सुबह से ही उसे तलाशने लगता था। ...

Hostel Girls (Hindi) - 7
by Kamal Patadiya

[प्रकरण : 4 -  पहचान के लिए संघर्ष] फ्लैट पर वापस आने के बाद सबको पुराने विद्यार्थियों की सफलता की गाथाएं मन में गूंजती रहती है। सब सहेलियां इस ...

दिल से दिल तक... - 1
by Komal Talati

             dear readers.....                        ak baar fir nayi kahani lekar upsthith hu... I hope ap sabhi ko meri ye kahani pasand aae???                                  part - 1                     ...

लीव इन लॉकडाउन और पड़ोसी आत्मा - 3
by Jitendra Shivhare

लीव इन लॉकडाउन और पड़ोसी आत्मा जितेन्द्र शिवहरे (3) दरवाजे की डोर बैल बज रही थी। टीना ने मैजिक आई से झांक कर देखा। बाहर किराना सामान लेकर एक ...

किरदार- 6
by Priya Saini
  • 69

समीर उसकी झुल्फों को दूर से निहार रहा है। अंजुम का काजल लगाना, हाथों में लाल चूड़ा, लाल बिंदी और लाल साड़ी तो अंजुम की खूबसूरती को चार चाँद ...

इतना बड़ा सच - (भाग 1)
by किशनलाल शर्मा
  • 81

कमला को गेट तक विदा करके ज्यों ही सुधा ने पीठ मोड़ी, रमा के खिलखिलाने की आवाज उसके  कानों मे पड़ी थी।रमा की हंसी की आवाज सुनकर उसके कदम ...

शम्बूक - 13
by ramgopal bhavuk
  • 30

उपन्यास:   शम्बूक   13    रामगोपाल भावुक    सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110        मो 0 -09425715707       Email-tiwari ramgopal 5@gmai.com          ...

कहानी की कहानी की कहानी - 24 - आगे क्या?
by कलम नयन
  • 36

उस रात किसी ने और कुछ नहीं कहा। छोटी सरकार किले में वापस भी नहीं गईं। मेमसाहब ने मेरे घावों पर मरहम लगाया और सबको खाना दिया। मेरे गले ...

मानस के राम (रामकथा) - 1
by Ashish Kumar Trivedi
  • 45

                          मानस के राम                           भाग 1राम ...

आद्यक्रांतिवीर और हमारी जिम्मेदारी
by Subhash Mandale
  • 60

आद्यक्रांतिवीर और हमारी जिम्मेदारी भारत के इतिहास में कई ऐतिहासिक घटनाएं हुई हैं, जिनमें से कुछ दर्ज की गई हैं, जिनमें से कुछ पर किसी का ध्यान नहीं गया। ...

मन्नतों का घर
by Dr Vinita Rahurikar
  • 144

मन्नतों का घर मंदिर तक ऊपर अब तो गाड़ी आज आने लगी है। एकदम मंदिर के सामने तो नहीं लेकिन नीचे के मोड़ तक। पहले तो बड़ी सड़क के ...

छोटी मछली
by padma sharma
  • 108

छोटी मछली   होटल से निकल कर मनेन्द्र ने दूर तक जाती सड़क का जायजा लिया । सड़क के एक ओर दुकानों की लंबी कतार थी। दुकानों के ऊपर ...

लहराता चाँद - 3
by Lata Tejeswar renuka
  • 132

लहराता चाँद लता तेजेश्वर 'रेणुका' 3 माथेरान से लौटने के बाद से संजय को रम्या में बहुत बदलाव महसूस हुआ। कभी खोई-खोई नज़र आती तो कभी वह किसी भी ...

चकवा (आपबीती)
by Atul Kumar Sharma ” Kumar ”
  • 321

(ये एक सत्यघटना है। अवश्य पढ़ें। इसमें कुछ भी कल्पनिक या मनगढ़ंत कहानी नही है। जो स्वयम मेरे साथ कभी घटी थी। हो सकता है ये किसी को मनोरंजक ...

उलझन - 6
by Amita Dubey
  • 93

उलझन डॉ. अमिता दुबे छः अंशी ने जैसे कुछ सुना ही नहीं आगे बताने लगी - ‘एक दिन एक अंकल जी को मुहावरा मिला - ‘थाली का बैगन’ वे ...

बागी आत्मा 2
by रामगोपाल तिवारी (भावुक)
  • 108

बागी आत्मा 2   दो         दस वर्ष पूर्व......       वही मकान वही जगह, जहाँ माधव ने अन्तिम साँस ली थी। माधव का पिता विस्तर पर पड़ा पड़ा ...