Hey, I am reading on Matrubharti!

अब ये शहर कुछ अपना लगने लगा है।
नही अंजान मैं, मुझसे कहने लगा है।
अब गलियों से थोड़ी गुफ्तगू हुई है।
अब दोस्तों में महफ़िल सजने लगी है
अब ये शहर अपना लगने लगा है।

छोड़ आए थी मैं मेरी किस्सों को पीछे।
मेरे शहर को पीछे, मेरे दोस्तों को पीछे,
अब नए किस्से फिर से बनने लगे है,
फिर नए हाथ हाथों में आने लगे है,
अब ये शहर अपना लगने लगा है,

धन्यवाद
सोनिया चेतन क़ानूनगो

Read More

Momspresso

Check out this interesting blog post
"रंग कैसा भी हो, मन अच्छा होना चाहिए।" by Sonia chetan kanoongo.
Read Here: https://www.momspresso.com/parenting/i-still-have-dreams/article/ramga-kaisa-bhi-ho-mana-achcha-hona-chahie

Read More

एक है आसमान तो एक जमीन है मेरी, एक जहां है मेरा तो एक जिंदगी है मेरी,

पहचान है मेरी, मेरे अक्स का वजूद है, मैं कुछ भी नही उनके बिना ,हाँ मुझे ये कबूल है।

पिता से छाँव मिली औऱ माँ से मिला आंगन मुझे।

किस्से कहानियों में मिली ,इस दुनिया की पहचान मुझे

उंगलियों को थाम कर सीखा है सँभल कर चलना मैंने, उनकी डांट से सीख जिंदगी की मिली।

कभी डगमगाने लगी ये जिंदगी ,तो हिम्मत की चाबी मिली।

कभी रूठना सीखा तो कभी मनाने की चाह मिली।

इंसान के रूप में खुदा की मूरत मिली


धन्यवाद

सोनिया चेतन कानूनगों

Read More

#KVYOTSAB

मेरी जान तो बसती तुझमे,जाने तू क्यों ना जाने
समझाऊ मैं कैसे गल्ला,मेरी धड़कन क्यों ना पहचाने।
चाँद को जैसे करती रोशन,चाँदनी की सौगाते मोर पपीहा नाचे ,जब जब होती है बरसाते
क्यों मेरे नैना अश्क़ बहाए,भीगे ना तेरी राहे।

जैसे मेरे ख्वाबों में तू करता इतनी बातें,
हाथों में तेरा हाथ है होता ,आँखों मे तेरी आँखे,
मेरी जान तो बसती तुझमें, तू क्यों ना पहचाने।
समझाऊ मै कैसे गल्ला,मेरी धड़कन क्यों
ना पहचाने।


धन्यवाद
सोनिया चेतन कानूनगो

Read More

#KVYOTSAV

खफ़ा खफ़ा से लगते हो, ये मैं नही कहती, अहसास तुम खुद बयां करते हो ।
लबों से बात आती है,मुझसे टकराती है,पर नजरें को नजरो से जुदा रखते हो।
ये मैं नही कहती तुम खुद अहसास बयां करते हो।
कुछ पूछो तो पता नही कह कर इतराते हो,
पता है तुम्हे सब, फिर भी गुस्सा होये समझाते हो।
ये मैं नही कहती तुम खुद कह जाते हो।
मुझसे खफ़ा रहकर ,लबो पे मुस्कान तो तुम्हारे भी नही आती।
चैन से नींद के इंतजार मे रात तो तुम्हारी भी बीत जाती।
ये मैं नही कहती, तुम्हारी बेचैनी कह जाती है।
प्यार तो रिहाई चाहता है ,पर तुम गुस्से के गुलाम बन जाते हो,
छुप छुप कर देखते हो मुझे,पर सामने ख़ामोश हो जाते हो,।
ये मैं नही कहती तुम खुद अहसास कराते हो।
हर पल में आदत है मुझे आवाज लगाने की,नाम होठों पर आकर रुक जाता है,
ये मैं नही कहती तुम्हारा मन बतियाता है,।

धन्यवाद

सोनिया चेतन कानूनगों
#soniachetankanoongo

Read More

अल्फ़ाज़ की दुनिया #KAVYOTSAV


जादू सा है अल्फाज की दुनिया में,
प्यार, मोहोब्बत , दर्द मरहम ने तराशा है इसे,
अहसास बया करने का ज़िक्र हो तो बादशाह बन सर आँखों पर उतारा है इसे,
मरहम सा लेप बनकर तकलीफों का  अंत करदे,
या तीर बनाकर भी दिल में उतारा है इसे,
फरियाद बनकर ईश्वर की भी शरण ली है इसने,
कभी प्यार की नगरी में अहसासों का कत्लेआम भी किया है,
हर जगह कायम है हवाओं के रुख की तरह, कभी बनकर जहर रगों में भी उतारा है इसे, दिवानगी की हद तक तो बगावत करदे ,
जुबां पे आकर जो बदनाम सरे आम करदे,
हर ख़ुशी में बनकर तमन्ना दिल को सुकुन भी देता है,
कभी बनकर कर अलगाव दूरियों को भी पनाह दी है इसने,
इतना आसान नही है अल्फाज़ो के चक्र से निकल पाना,
कभी उम्र लग जाती है इन्हें लवों का रास्ता दिखाने में,
जिद पे आये तो दिल मे रहकर तूफान मचाने लगते है,
  तड़प बन जाये किसी की तो आँखों के जरिये ख़ुद को बहाता भी है,
न कोई रोक पाया इसके बहाव को न कोई रोक सकता इसके सैलाब को,
हाँ सच ही तो हैं जादू सा ही तो है अल्फाज़ो की दुनिया मे।


धन्यवाद

सोनिया चेतन कानूनगों

Read More

#KAVYOTSAV -2
एहसास तेरा ,मुझे तुझसे जुदा होने नही देगा,
ठहर जाऊ तेरी बाहों में मै उम्र भर,ये ख़ुदा होने ना देगा
कैसे मोह के धागे में बांध डाला मुझे,ड़ोर कच्ची है पर दिल टूटने ना देगा,
खुशियाँ, सुख दुःख मोहोब्बत हर लम्हे को जिया है तेरे साथ इस जीवन मैं।
बेबस हूँ मैं, ये वक़्त बेरहम फिर से जीने की मोहलत ना देगा।

धन्यवाद
सोनिया चेतन कानूनगों

Read More

#KAVYOTSAV -2

आ रंग दे मुझे तेरे अहसास से ,क्यों खामोश है तू मेरे रहते हुए, प्यार ,मोहोब्बत, जिद, नाराजगी,खामोशी की वजह, या हँसने की वजह ,मुझे सबका इंतजार है तेरे रहते हुए,
अक्सर तू खामोशी में मुझे तलाशती है, की बयां कर सके वो जो किसी से रूबरू नही कर पाती है,
फिर क्यों आज मुझे भूल गयी, बैठा हूँ, बाहें फैलाये तेरे अल्फ़ाज़ के लिए,
ऐ कलम कोरा हु मैं ,तेरे शब्दों के बिना, क्या अहमियत है मेरी तेरी लब्जो के बिना, तेरे हर सुख दुख का साथी हु मै,
मेरे बिना तू अधूरी है, वैसे ही अधूरा हु मै तेरे बिना, 
इंतज़ार कर ऐ कागज किसी के दिल टूटने का, अश्क़ों के फुटने का, ले कोई हाथों में मुझे तेरे दिल को रंगने के लिए, इंतज़ार है मुझे भी तुझसे मिलने के लिए,,
देखो कोई आ रहा है, पता नही आज क्या गुल खिला है गुलिस्तां में, कोई बहार आयी है,या कोई कांटा चुभा है गुलिस्तां में,
अहसास तो बयान होने दे तेरे पन्नो पे दिल का हाल लिखने दे, शायद कोई बाता रहा है अपनी जुस्तजू, तू सब्र कर मैं आऊँगी पास तेरे कुछ लम्हो में,
बस इतना ही तो कहा था सुनलो मेरे दिल का हाल, तुम नाराज हो कर चल दिये, हज़ारो सवाल थे इन आँखों में जो मैंने इन पन्नो में कैद कर दिए, बस पलट कर देख लेते मुझे, जन्नत तो नही मांगी थी मैंने, जो लब्जो को मेरे खिलाफ कर लिए,,,,
ऐ कलम तू बता तेरे पन्नों में,क्या कसूर था मेरा ,जो वो चल दिये,,  
देखा मैंने कहा था, तू इंतज़ार तो कर मेरे आने का, टूटा है फिर आज दिल किसी का ,मैंने छुआ है तुझे इसी बहाने से,
अब अलविदा मैं जाती हूं तो इंतज़ार करना,फिर मिलेंगे हम किसी बहाने से, 


धन्यवाद
सोनिया चेतन कानूनगों

Read More

क्या सुबह सुबह आप मुझे परेशान करते हो बाऊजी,कमसेकम एक रविवार तो चैन से सोने दिया करो, वैसे ही पूरा सप्ताह निकल जाता है नौकरी,घर और बच्चों को संभालने में ऊपर से आप मुझे हर वक़्त परेशान करते हो।
कुछ नही बहु मैंने सोचा सुरेश के चले जाने के बाद तूने सबकी खुशियों के बीच अपनी खुशियों को पता नही कहाँ खो दिया,आज तेरा जन्मदिन है तो तेरे लिए रसगुल्ले लेके आया तुझे पसंद है ना, थोड़ी खुशियों पर तो तेरा भी हक़ है।
ये सुन स्नेहा की आँखों में आँसू आगये। और बाबूजी के पैर छूकर माफ़ी माँगी।

Read More

#LoveYouMummy

प्रिय माँ,


ये खत तेरे नाम,जिसमें समेटी है मैंने मेरे प्यार की कश्ती,जिसकी पतवार तू है, समेटा है आसमान जिसकी बौछार तू है, और समेटी है सारी दुनिया मेरी दुनिया जिसकी रचियता तू है, आभार देने के लिए शब्दों की नहीं मैंने अपनी पलकों से याचना की है, ये सदा तुझे मुस्कुराता देखे यही खुदा से दुआ की है। मेरा तो खुदा भी तू है और जन्नत भी तू, किस तरह तुझे शुक्रिया करू मेरे तो लब्ज़ भी तू है और खामोशी भी तू। कहा नही है तू ये मुझे भी मालूम नही। जहाँ तलक ये दुनिया है हर जगह है तू।

धन्यवाद

सोनिया चेतन कानूनगों

Read More