lover by nature, writer by mind, singer by heart, indian by soul. जै श्री राम

बड़ा अजीब किस्मतों का खेल था....
कभी वो मिलना नहीं चाहे...
कभी हम मिलना नहीं चाहे...
आज वक्त नहीं चाहता कि हम मिलें...

-Sarvesh Saxena

Read More

उठ गए हो तो रब का शुक्रिया अदा कीजिए..!!!

हर एक ज़िंदगी के मुक़द्दर में सवेरा नहीं होता...!!!

लोग जब पूछते है की आप क्या काम करते हो, असल में वो हिसाब लगाते है की आपको कितनी इज़्ज़त देनी है ...!!!




-Sarvesh Saxena

हंसी आ गई मुझे आज जब एक दोस्त ने पूछा तुम हंसते भी हो...

-Sarvesh Saxena

हिन्दी दिवस मनाने का उद्देश्य तभी सफल होगा जब हिंदी किसी एक दिन की मोहताज नहीं रहेगी इसलिए आइए हम सब मिलकर प्रत्येक दिन को हिन्दी दिवस मनाये और इस प्रेम और संस्कारों की भाषा को इसके उच्चतम स्तर तक पहुंचाये |

- सर्वेश सक्सेना

Read More

जिंदगी मे बहुत सी वो चीजें बहुत से वो लोग जो हमे बहुत प्यारे होते हैं पीछे छूट जाते हैं ....
इस सच के साथ कि अब हम उनको कभी नहीं देख पाएंगे ....

अजीब है ना जिंदगी ....

-Sarvesh Saxena

Read More