introvert writer

Dear god..
I am very a believer. So it will take time to believe that you are not here. Actually you never existed. You were only in my upbringing. But now I will believe that you are not. And if you are present here then I don't care. Because I have so many complaints from you that I will never forgive you..
Never
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

Read More

Hey lovelies ❤️❤️
If you love my writing and content.. You can follow me on instagram also.. so basically my instagram id is- @Roop_ki_baatein

With love💕
#roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop #रूपकीबातें

तू मिलन और विरह मैं, इस सत्य से भयभीत हूँ,
तू वीर और श्रृंगार मैं, एक हारती हुई जीत हूँ।
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

Read More

अक्सर लोग बिन कहे, बिन बताए चले जाते हैं।
इसलिए मेरा एक सवाल है..
अगर कभी जो मैं ना रहूँ..
तो मेरी जगह किसी और को दे तो नहीं दोगे??
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

Read More

जब मैं अधिक खुश होती हूँ तो मेरी आँखों से आँसू बहने लगते हैं। और कभी-कभी मैं लगभग रोने ही लगती हूँ। यही वज़ह है कि मैं सरप्राइज़ से दूर भागती हूँ। हाँ, शायद यह सभी के साथ होता होगा या शायद नहीं भी होता होगा। मगर मैंने जितना महसूस किया है यह लम्हा अत्यधिक ख़ूबसूरत होता है।
#roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop #रूपकीबातें

Read More

तुम्हारी ज़िंदगी में मेरी क्या जगह है, ये तो मैं नहीं जानती मगर मेरे लिए तुम हमेशा सबसे खास हो। तुम्हारी मौजूदगी ही काफ़ी है तुम्हारा होना बताने के लिए। क्योंकि मैं चाहकर भी तुम्हें नज़रअंदाज़ नहीं कर पाती हूँ।
तुम हँसोगे मुझ पर मगर मैं बताना चाहती हूँ कि मैं कई दफ़ा तुमसे रूठी भी हूँ।
हाँ! मगर तुम्हें कभी जताया नहीं मैंने।

सुनो..
यूँ तो मेरे दिल में ना जाने कितने सवाल हैं जिनका जवाब बनाना मैंने सीख लिया है क्योंकि अब दिल नहीं चाहता है तुमसे सवाल करना।
मगर..
आज तुमसे कुछ पूछना चाहती हूँ.
.
क्या कभी तुमने, कुछ पल के लिए ही, मुझसे मोहब्बत की है??
वो जिसे मैंने तुम्हारी आँखों में देखा था,
वो जो मैंने तुम्हारी नज़रों में महसूस किया था..
क्या वो मोहब्बत नहीं थी??
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

Read More

जैसा कि मैंने तुम्हें पहले भी बताया है..
मुझे रंगों से बहुत प्यार है। ऐसा कोई रंग नहीं जो मुझे अपनी और नहीं खींचता, मगर फिर भी एक रंग है जो मेरे सामने आता है तो मैं अलग ही जुड़ाव महसूस करती हूँ।
वो है.. "लाल रंग"
जानते हो..
कभी किसी दुकान पर अगर मेरी नज़र लाल रंग के कपड़ों पर पड़ती है.. तो मैं हमेशा यही कहती हूँ.. ये लाल रंग मत दिखाया करो.. और दुपट्टे तो बिल्कुल भी नहीं।
मुझसे जुड़ा हर शख़्स जानता है, मैं दुपट्टे बहुत पसंद करती हूँ, और अगर वो लाल रंग का हो, तो फिर तो ये मेरी कमजोरी है कि मैं नज़र अंदाज़ नहीं कर पाती।

सुनो..
कभी अगर मुझसे ये कहना हो कि तुम मुझसे मोहब्बत करते हो..
तो ज़्यादा कुछ नहीं बस..
नीले रंग की सादी शर्ट पहनकर, किसी महंगे तोहफ़े से नहीं, बल्कि किसी लाल दुपट्टे से मेरे सिर को ढककर कह देना।
इससे ज़्यादा ख़ूबसूरत सादगी भरा इज़हार हो ही नहीं सकता।
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

Read More

मेरे माँ-बाबा का प्रेम असीमित है।
बिना किसी शब्दों में गढ़े, महिमामंडन किए, बिन कहे उनका प्रेम मुझे सुनाई देता है। उनके प्रेम को कभी शब्दों के पीछे नहीं छुपना पड़ा। उन्हें कभी किसी महान लेखक की महंगी किताब में छपी प्रेम भरी पंक्तियों का सहारा नहीं लेना पड़ा।
आज भी जब बाबा, खाना खाते हुए रोटी के दो हिस्से कर, आधा हिस्सा माँ की थाली में रख देते हैं..
उस समय माँ के ''असमंजस से भरपूर मुस्कुराती आँखों के भाव" और बाबा के चेहरे का सुकून केवल उनके प्रेम का परिचायक होता है।
#roopanjalisinghparmar #roop #roopkibaatein #रूपकीबातें

Read More

करूं शब्द-शब्द मैं प्रीत की बातें, हाँ तुम मेरा आधार पिया,
मैं जोगन कभी बैरागन बनती, और तुम मेरा संसार पिया।।
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

Read More

बहुत ख़ूबसूरत लगते हैं वो लड़के,
जो सँवारते हैं अपनी माँ के बालों को।
और दबाते हैं पैर पिताजी के..
जो देखते हैं एकटक अपनी प्रेमिका को,
और फिर भिगा लेते हैं अपनी आँखें, उसे मात्र निहारकर।

क्योंकि प्रेम का आनंद सर्वप्रथम आँखों से छलकता है।
#रूपकीबातें
#roopanjalisinghparmar #roop #roopkibaatein

Read More