Hey, I am on Matrubharti!

लोग अक्सर गुलाब का फूल समझकर तोड़ने की कोशिश करते हैं,
लेकिन वो भूल जाते हैं कि गुलाब के साथ कांटे भी होते हैं।

-Kusum

Read More

तेरे बिना मेरी हर खुशी अधूरी है,
सोच तू मेरे लिए कितना ज़रूरी है।

-Kusum

एक चाय की प्याली पीते हुए खुद को भी समझने की कोशिश करती हूं मैं,
लेकिन अक्सर चाय खत्म हो जाती है लेकिन मेरा वजूद घुल जाता है हवा में चाय की भाप की तरह।

Read More

अपने परिश्रम के हथौड़े से असफलता के पत्थर पर तब तक वार करो, जब तक वह सफलता की प्रतिमा न बन जाए।

अपने परिश्रम के हथौड़े से असफलता के पत्थर पर तब तक वार करो, जब तक वह सफलता की प्रतिमा न बन जाए।

जीवन के हर रूप में बचपन सबसे अच्छा होता है जहां न किसी की फ़िक्र होती है ना किसी का जिक्र होता है।

चल कहीं ऐसी जगह चलें,
जहां दोनों ही खुद को पा लें।

लोगों को लेकर चला था बूंदों की तरह,
सोचा समंदर बन जाएगा,
पीछे मुड़ देखा तो खाली रेत दिखी।

प्यार की 'तालीम' तो बहुत दी तुमने ,
पर कभी यह न बताया कि 'तालीम' की 'तालीम' बहुत बड़ी चीज़ है।

मुझे मेरी कलम में मत ढूंढ़ में तो तेरे हर एहसास पर काबिज हूं।