દિલની વાત મા દિલગીરી ન હોય.

कस्तूरी सी सुबह 
सतरंगी सी शाम 
दिल की तंग गलियों में 
लिखा तेरा नाम 

कोई भी सीढ़ी हो
तुम उसके पहले पड़ाव हो 
ज़िन्दगी के उतार-चढ़ाव में 
तुम ठहराव हो 

रहूँ साथ तेरे उम्र भर 
ऐसी खवाहिश नहीं मेरी
जेहन में रखना
कुछ ऐसी तलब है तेरी 

नशा उतरे न कभी 
वैसी उम्दा शराब हो 
ज़िन्दगी के उतार-चढ़ाव में 
तुम ठहराव हो 

लगे मीठी फरवरी में 
वो सौंधी-सौंधी धुप तुम 
श्रृंगार करूँ लाखों के 
पर मेरा रूप तुम 

गुनगुनाओ जिसे दिन-रात 
तुम वो अलाप हो 
ज़िन्दगी के उतार-चढ़ाव में 
तुम ठहराव हो 

Read More

વહાણ દરિયા કિનારે હંમેશાં સલામત હોય છે,
પણ એ દરિયા કિનારે રહેવા માટે નથી સર્જાયુ.
આ વાક્ય જીવનમાં જોખમો ખેડવાની સલાહ આપે છે,
જોખમો ઉઠાવ્યા સિવાય સફળતા મળતી નથી...

Read More

कई जित बाकी है कई हार बाकी है
अभी तो जिंदगी का सार बाकी है
यहाँ से चले है नई मंजिल के लिए
यह एक पन्ना था,
अभी तो किताब बाकी है।

Read More

हम प्यार में गिरना क्यों कहते है।

हम तो प्यार में उठते है।

कई जित बाकी है कई हार बाकी है
अभी तो जिंदगी का सार बाकी है
यहाँ से चले है नई मंजिल के लिए
यह एक पन्ना था अभी तो किताब बाकी है..!

Read More

शांति की इच्छा हो तो पहले इच्छा को शांत करो..!

कुछ भी स्थायी नहीं।
सब कुछ अस्थायी है।
अपने अतीत के लिए खेद महसूस न करें।
अपने भविष्य के लिए वादा मत करो।
आज की सुंदरता महसूस करे।
यह फिर से कभी नहीं आता है।
#अस्थायी

Read More

मेरी तलब पे तो आसमां भी हैरान है...
कि मैने चाँद नहीं उसका दाग मांगा है।

जिस सादगी से लहरे गले मिलती है किनारे पे
विश्वास नहीं होता ये कस्तिया भी डूबो सकती हैं।

#विश्वास

ખોઈ દે પછી શોધ્યા કરે છે....
“ બસ આજ રમત લોકો જીંદગી ભર રમ્યા કરે છે..
પછી એ "પ્રેમ" હોય કે "પૈસો"
“સબંધ” હોય કે "વિશ્વાસ"..!!!

#વિશ્વાસ

Read More