Hey, I am reading on Matrubharti!

बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनायें....🌺🌷🌺🌷🌺🌷🌺🌷🌺🌷🌺🌷🌺🌷

मीठी नींद में न जाने कितने ही स्वप्न झलकते हैं
होठों की किलकारियों से न जाने कितनों के घर महकते हैं
इन बच्चों के नन्हे हाथों तले
न जाने कितनी ख्वाइशों के अरमान पनपते हैं।

✍नेहा शर्मा

Read More

आप सभी को दीपोत्सव के पावन पर्व की अनंत शुभकामनाएं......💐💐💐💐💐💐

माँ लक्ष्मी और श्री गणेश की कृपा सदैव बनी रहे..🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

Read More

अंधेरे से उजाला खोज लाओ
आसमान से एक सितारा तोड़ लाओ
खरीदकर कुछ दीये इनके भी
आशाओं के दीप इनके घरों में भी जलाओ।

नेहा शर्मा।

Read More

सभी का दिन शुभ व मंगलमय हो.....🌼🌼🌼

हर दशहरे पर
रावण को
चौराहे पर जलाते हो
मगर क्या
बुराई को
मन से मिटा पाते हो
असत्य पर
सत्य का
जश्न भी मनाते हो
मगर क्या
अपने जीवन में
सत्य को
उतार पाते हो
जब मिटेगा
मन से
अहम का अंधेरा
सच्चे अर्थों में
होगा तब
विजय दशमी का सवेरा।।

✍️नेहा शर्मा।

Read More

#gandhigiri

कुछ लोग सड़क पर घूम रही गाय को बेरहमी से मार रहे थे। वह गाय बदहवास- सी मेरे घर के सामने आकर खड़ी हो गई और दर्द से झटपटाने लगी। किसी भी तरह मैंने और मेरी मम्मी ने उन लोगों को वहाँ से हटाया और गाय को स्नेह से दुलारा। गाय ने अपना सिर आगे की ओर बढ़ाया मानो वह हमारे पास आकर सुरक्षित महसूस कर रही हो। और फिर वह गाय रातभर वही बैठी रही। पता नहीं लोग बेजुबान जानवरों पर वार करते हुए यह क्यों भूल जाते है कि आखिरकार दर्द तो उन्हें भी होता है।

✍️नेहा शर्मा।

Read More

#Gandhigiri

सड़क पर जाते हुए अचानक मेरी नजर गाड़ी में बैठे हुए उन लोगों पर पड़ी जो खाली सामानों के पैकेट्स को सड़क पर फैला रहे थे। जब मैंने उनसे सड़क पर कचरा नहीं डालने की गुजारिश की तो उसमें बैठे अधेड़- सी उम्र के शख्स मुझ पर भड़क गए। मैंने बिना किसी का विरोध किए सभी पैकेट इकट्ठा कर-कर डस्टबिन में फेंक दिए। तभी गाड़ी में बैठा छोटा बच्चा बाहर निकलता है और अपने खाली चिप्स के पैकेट को डस्टबिन में डाल कर मुस्कुराता हुआ वापस गाड़ी की तरफ बढ़ता है। और मैं प्रफुल्लित कदमों से घर की तरफ बढ़ने लगती हूं।

नेहा शर्मा।

Read More

लोकप्रिय हिंदी वेब पत्रिका "अनुभव" में प्रकाशित मेरी रचना "चिड़िया रानी"।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

Read More

"हम हिंदुस्तानी" न्यूयॉर्क अमेरिका की प्रतिष्ठित पत्रिका में प्रकाशित मेरा लेख।
🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷
🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷

Read More