l love INDIAN ARMY . I m here because our brave tigers are guarding frontiers.

रगों में जिसके रक्त के साथ शौर्य बहता है,,
जुबां पर हर शब्द में जिसके 'वन्दे मातरम' रहता है,, वर्दी जिसकी जिस्म का हिस्सा बन जाती है,, उस वतन के रखवाले को हर हिन्दुस्तानी 'शेर-ए-हिन्द' कहता है!!
"कारगिल विजय दिवस की हर हिन्दुस्तानी को ढ़ेर सारी शुभकामनाएं🇮🇳🇮🇳।

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More

लिखनेवालो ने क्या-क्या ना लिखा,, इश्क-मोहब्बत, दर्द-रुसवाई पर हजार-ओ-हजार लिखा,, लिख डाले नियम-कायदों पर पन्ने अनगिनत किसी ने,, तो रंग डाला काली स्याही से पोथी-किताबों को किसी ने,, पर कोई लिख ना पाया कारीगरी अपनो के अहसास छू पाने की,, क्यूँ नहीं किसी ने रिश्तों का सार लिखा,, कोई तो लिख देता कि कैसे सच्चा साबित रिश्तों में खुद को करे,, सब कुछ लिखा, हर बात पर हर बार लिखा,, पर ये रिश्तों को ईमानदारी और भरोसे में तौलने का कोई तरीका कयूँ ना किसी ने भी एक बार लिखा!!

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More

मन चाहता है कि हर दुख , हर दर्द छिपा दूँ कहीं दूर अपनों की जिन्दगी से,,,
बदले में चाहे मेरा दामन भर जाए हर पल की मुसीबतो से!!

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More

जरा सा तो कभी आसान कर दे सफर ए जिन्दगी,, उलझनों को सुलझाने की अब और हिम्मत नहीं है!!!

-Khushboo Bhardwaj RANU

ये कैसी दूरी अहसासों की आ गई है तेरे मेरे दरमियाँ,,,
तू खुश है देकर जख्म मुझे हर बार,,
और मैं खड़ी हूँ कसूरवार सी चोट खाकर भी।।।

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More

``सच ये नहीं है कि एक मिडिल क्लास लड़का अपने लिए सपने देखने की हिम्मत नहीं रखता,,, बल्कि कड़वा सच ये है उस मिडिल क्लास लड़के के परिवार की जरूरतों के बोझ के नीचे दबकर उसके सपने पल पल अपनी सासें छोड़ देते हैं!!ʼʼ

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More

जाने कितने ही घर बर्बाद हो जाएँगे,,
जाने कितनी ही आंखो के आँसू बहकर सूख जाएँगे,,
नहीं रुका गर बर्बादी का मंजर ये जल्द,,
तो जाने कितनी ही जमीं की मिट्टी को नफरत की आग के गोले ये,
सदियों के लिए यूँ बंजर कर जाएँगे।।

" युद्ध ताकत का प्रमाण हो सकता है, निर्णायक हो सकता है, लेकिन आखिरी विकल्प कभी नहीं हो सकता।।"

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More

कौन है अपना ???
वो , जो हर पल साथ रहकर भी सिर्फ हँसती आंखे और होंठो की मुस्कुराहट ही देख पाता है या वो ,जो दूर होकर भी उन आँखो में तैरते घुटन के आँसू और झूठी मुस्कुराहट के पीछे छिपा गम भी पहचान लेता है!!!

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More

लिखते हैं जो मेहनत की कलम से अपने पसीने को स्याही बनाकर,,,,
उनकी जिन्दगी की किताब के पन्नो पर एक दिन जरूर सफलता के अध्याय लिखे जाते हैं!!!

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More

रौशन हो घरद्वार,,
सारा जग जगमगाए,,,
लेकर साथ सीता मैया को रामजी हैं आएं।।
कह दो हर एक से आज,, खुशियाँ ही खुशियाँ बाटें,,
आओ मिलकर अन्धियारा अपने मन का भी मिटाएं,,,
प्रेम और खुशियों के दीप मिलजुलकर आज हर घर में जलाएं!!!
शुभ दीपावली 💐💐

-Khushboo Bhardwaj RANU

Read More