*नजर आये तू, वो नजर कहाँ* *यूँ तो हर जगह तू, मगर कहा*

કોઇ પણ સ્ત્રી તમારી હાજરીમાં નિશ્ચિંત થઈ શકતી હોય, તો તમે દુનિયાના શ્રેષ્ઠ પુરુષ છો..

"पायल" की खनक पे ही तो लुटा था 'दिल'....

क्या पता था कि 'उचलना' उसका शौक है..!!

તારી અને મારી વચ્ચે એટલો વ્યહવાર છે,

તારી કમેન્ટ મારી શાયરીનો શણગાર છે..

सहमी सी निगाहो में ख्वाब हम जगा देंगे, सूनी इन राहो पे फूल हम खिला देंगे, हमारे संग मुस्कुरा के तो देखिए, हम आप का हर गम भुला देंगे

Read More

*शायरी नहीं .. यह लफज़ो में लिपटे मखमली अहसास हैं हमारे ,... .. .*
*सिर्फ उनके लिए जो बेहद खास हैं हमारे...*

टूट कर बिखर भी जॉऊ तुम्हारे लिए,,,,,,,,,,,,,,,,

छू कर तो देख जिन्दा हूँ बस एक इशारे के लिए,,,,,,,,,,,,,,

मैंने उससे पूछा
" क्या मैं तुम्हें
अब भी पसंद हूँ ?"

वह कुछ देर चुप रही
उसके माथे पर
चिंता की लकीरें उभर आईं
और बोली -
" क्या मैं
अब भी तुम्हें पसंद हूँ ?"

****

Read More

जब भी मन करता है मीठा खाने का,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

हम चुपके से तेरी फोटो को चूम लेते है !!,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

दिल के बाज़ार में दौलत नहीं देखी जाती...!

प्यार हो जाये तो सूरत नहीं देखी जाती...!!

एक साथी पर ही लुटा दो ज़िंदगी अपनी...!!!

क्युंकि पसंद हो चीज़ तो क़ीमत नहीं देखी जाती...!!!!

Read More

उसकी गालों का रंग चाय जैसा था......................

फिर क्या था, आँखें बंद की और चुस्की ले ली.......................