मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता कुछ रिश्तो का कोई तोल नहीं होता वैसे लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर पर कोई आप की तरह अनमोल नहीं होता ।

हमारी जिन्दगी है एक कहानी की तरह ,हवा हूँ जिसमें मैं और तू पानी की तरह ,मेरी रुखों से तू दामन तो यूं छुड़ा के न जा ।मै आइना हूँ , मुझसे नजर चुडा के न जा
इमरान अगरिया

Read More

बहुत चाहेंगे तुम्हें मगर भुला ना सकेंगे ख्यालों में किसी और को ला ना सकेंगे किसी को देखकर आसू तो पोंछ लेंगे मगर कभी आपके बिना मुस्कुरा ना सकेंगे
इमरान अगरिया

Read More

"दिल भी गुस्ताख हो चला था बहुत,
शुक्र है की यार ही बेवफा निकला।
न कोई मज़बूरी है न तो लाचारी है,
बेवफाई उसकी पैदायशी बीमारी है।" इमरान अगरिया

Read More

उनको अपने हाल का हिसाब क्या देते सवाल सारे गलत थे जवाब क्या देते वो तीन लफ्जों की हिफाजत ना कर सके उनके हाथ में जिंदगी की पूरी किताब क्या देते
इमरान अगरिया

Read More

दिल पे क्या गुज़री वो अनजान क्या जाने;
प्यार किसे कहते है वो नादान क्या जाने;
हवा के साथ उड़ गया घर इस परिंदे का;
कैसे बना था घोसला वो तूफान क्या जाने
इमरान अगरिया

Read More

तू चाँद मे सितारा होता
आसमान के एक आशियाना में
एक आशियाना हमारा होता
लोग तुम्हे दूर से देखते
नज़दीक से देखने का हक़ बस हमारा होता|
इमरान अगरिया

Read More

दिल की हसरत ज़ुबान पे आने लगी
तूने देखा और ज़िंदगी मुस्कुराने लगी
ये इश्क़ की इंतेहा थी या दीवानगी मेरी
हर सूरत मे सूरत तेरी नज़र आने लगी
इमरान अगरिया

Read More

एक शम्मा अंधेरे में जलाए रखना,
सुबा होने को है मौहौल बनाए रखना,
कौन जाने वो किस गली से गुज़रे,
हर गली को फूलो से सजाए रखना!
इमरान अगरिया

Read More

कोई हमे प्यार करे ऐसा कोई प्यार नही मिलता

ज़िंदगी भर साथ निभाए ऐसा कोई यार नही मिलता

दिल में है उमंग किसी से प्यार करनेकी

मगर कोई हमे जीई भरके प्यार करे ऐसा कोई दिलदार नही मिलता
इमरान अगरिया

Read More

अपनी नज़र से ना देख अपनी खूबसूरती को,
तुझे हीरा भी पथर लगेगा,
लोग कहते हैं तू चाँद का टुकड़ा है,
मगर तू मेरी नज़र से देख चाँद तेरा टुकड़ा लगेगा
इमरान अगरिया

Read More