Hey, I am reading on Matrubharti!

शब्द भी एक तरह का भोजन है, किस समय कौनसा शब्द परोसना है, वो आ जाये तो दुनिया मे उससे बढ़िया रसोइया कोई नही है। शब्दका भी अपना एक स्वाद है, बोलने से पहले स्वयं चख लीजिये,अगर खुद को अच्छा नही लगे तो दूसरों को कैसे अच्छा लगेगा।

Read More

आज एक बिल्ली ने किसी आतंकी का रास्ता काटा |
वह बोला, 'तुझे मैं ही मिला था जो मेरा रास्ता काटा ?'
बिल्ली मुड़कर बोली, 'शुक्र मनाओ के मैंने तो सिर्फ तुम्हारा रास्ता काटा, तुमने तो न जाने कितनों सर काटा.'

Read More

शादीशुदा जिंदगी जीने का सर पे जुनून छाया है |
मानो खुद कुत्ते को गले में पट्टा पहनने का शौक़ आया हैं |