Betiya - Sharm nahi samman hai by Satender_tiwari_brokenwordS in Hindi Poems PDF

बेटियाँ - शर्म नहीं सम्मान है.....

by Satender_tiwari_brokenwordS Matrubharti Verified in Hindi Poems

1. वो दौर-----------न जाने वो कैसा दौर रहा होगाजब बेटियों के पैदा होने परघर गाँव मे सन्नाटा छा जाता थाकहीं मातम भारी शाम होती थीकहीँ पर बेटियों को दफना दिया जाता थान जाने वो कैसा दौर रहा होगा।।बेटोँ की ...Read More