Dil Mera by अmit Singh in Hindi Poems PDF

दिल मेरा

by अmit Singh in Hindi Poems

देखा तुमको जब प्रथम बार, चांदनी में चमकता रूप तेरा। फिर जब देखूं मैं तेरा ख्वाब, ...Read More