Aakhiri Khat by Roopanjali singh parmar in Hindi Letter PDF

आखिरी ख़त

by Roopanjali singh parmar Matrubharti Verified in Hindi Letter

रुद्र,रुद्र मैंने यह खत तुम्हें इसलिए नहीं लिखा कि एक बार फिर तुमसे यह कह सकूं कि मैं तुमसे प्यार करती हूँ, न अपनी कमी का एहसास दिलाना है तुम्हें।अजीब बात है न रुद्र जब मैं तुमसे प्यार करती ...Read More