Hindi Blog videos by જીગર _અનામી રાઇટર Watch Free

Published On : 08-Jun-2021 09:12pm

191 views

कैसे खुश रहे हम?
गरीब ही इतने थे की,
इस महॉबत को खरीद न सके।

अश्रु बहते रहे,
हम कंगाल होते गए।
बहोत रोया, बहोत तड़पा !
जब महॉबत का खरीददार कोई और हो गया।


जिगर_अनामी राइटर

0 Comments