Hindi Poem videos by Rinki Choudhary Watch Free

Published On : 29-May-2020 02:27pm

42 views

एक दुखद दृश्य देखा
-----------------------------
आज बालकनी से बाहर एक दुखद दृश्य देखा।
सामने रेल पटरी पर कई लोगो को अपना समान ले जाते हुए व पलायन करते हुए देखा।
आंखो से अश्रु छलक उठे जब वहीं कुछ बच्चो को पीठ पर बैग लादे और धूप में छोटे छोटे क़दमों से चलते देखा।
पढ़ाई-लिखाई का अब ठिकाना नहीं
स्वयं का कुछ होश नहीं बस गांव के घर जाने का आराम देखा।

0 Comments